मुझे दिक्कत आंसुओं से नहीं

Previous articleUntamed Wildflower
Next articleoh dear face

मुझे दिक्कत आंसुओं से नहीं,
इनकी बहने की वजह से है.
दर्द से रिश्ता पुराना सा मालूम होता है,
शिकवा तो बस दोहराते हुए किस्सों से है.
की वो जज़्बात भी मेरे अपने थे,  और वो गलत फैसले भी,
फिर क्यों हर बार याद करके दिल रो पड़ता है?
इसे पत्थर बनाने की कोशिश तो बहुत की,
पर हर बार तुझे देख के,  ये दिल रुई सा मुलायम हुआ पड़ता है.

लेखक: Shriya Nanda
Instagram: @breathing_wordds

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here